Tulsi Chalisa PDF Download in Hindi 2024

तुलसी चालीसा (Tulsi Chalisa) Hindi PDF download free from the link given below in the page.

PDF Nameतुलसी चालीसा (Tulsi Chalisa)
No. of Pages14
PDF Size0.80 MB
LanguageHindi
PDF CategoryHindu Books, Religion and Spirituality
Last UpdatedOctober 3, 2023
Sources and CreditsMultiple Sources
Comments✎ 0
Uploaded Bynetshopsys.com
Additional Commentतुलसी चालीसा (Tulsi Chalisa) Hindi

Tulsi Chalisa PDF Free Download

तुलसी माता कीपूजा करना एक बहुत ही शुभ कार्य माना जाता हैऔर अगर आपको भी पूजा करना है तो उसके लिए आपको तुलसी चालीसा की आवश्यकता पड़ेगी इस blog को पूरा पढ़ते रहिए और नीचे हम आपको तुलसी चालीसा का download लिंक प्रोवाइड करेंगे। [Tulsi Chalisa PDF Free Download]

Tulsi Chalisa PDF Download in Hindi

Tulsi Chalisa PDF Lyrics

|| दोहा ||

श्री तुलसी महारानी, करूं विनय सिरनाय ।
जो मम हो संकट विकट, दीजै मात नशाय ।।

|| चौपाई ||

नमो नमो तुलसी महारानी । महिमा अमित न जाए बखानी ।।
दियो विष्णु तुमको सनमाना । जग में छायो सुयश महाना ।।

विष्णु प्रिया जय जयति भवानि । तिहूं लोक की हो सुखखानी ।।
भगवत पूजा कर जो कोई । बिना तुम्हारे सफल न होई ।।

जिन घर तव नहिं होय निवासा । उस पर करहिं विष्णु नहिं बासा ।।
करे सदा जो तव नित सुमिरन । तेहिके काज होय सब पूरन ।।

कातिक मास महात्म तुम्हारा । ताको जानत सब संसारा ।।
तव पूजन जो करैं कुंवारी । पावै सुन्दर वर सुकुमारी ।।

कर जो पूजा नितप्रीति नारी । सुख सम्पत्ति से होय सुखारी ।।
वृद्धा नारी करै जो पूजन । मिले भक्ति होवै पुलकित मन ।।

श्रद्धा से पूजै जो कोई । भवनिधि से तर जावै सोई ।।
कथा भागवत यज्ञ करावै । तुम बिन नहीं सफलता पावै ।।

छायो तब प्रताप जगभारी । ध्यावत तुमहिं सकल चितधारी ।।
तुम्हीं मात यंत्रन तंत्रन में । सकल काज सिधि होवै क्षण में ।।

औषधि रूप आप हो माता । सब जग में तव यश विख्याता ।।
देव रिषी मुनि और तपधारी । करत सदा तव जय जयकारी ।।

वेद पुरानन तव यश गाया । महिमा अगम पार नहिं पाया ।।
नमो नमो जै जै सुखकारनि । नमो नमो जै दुखनिवारनि ।।

नमो नमो सुखसम्पत्ति देनी । नमो नमो अघ काटन छेनी ।।
नमो नमो भक्तन दु:ख हरनी । नमो नमो दुष्टन मद छेनी ।।

नमो नमो भव पार उतारनि । नमो नमो परलोक सुधारनि ।।
नमो नमो निज भक्त उबारनि । नमो नमो जनकाज संवारनि ।।

नमो नमो जय कुमति नशावनि । नमो नमो सब सुख उपजावनि ।।
जयति जयति जय तुलसीमाई । ध्याऊं तुमको शीश नवाई ।।

निजजन जानि मोहि अपनाओ । बिगड़े कारज आप बनाओ ।।
करूं विनय मैं मात तुम्हारी । पूरण आशा करहु हमारी ।।

शरण चरण कर जोरि मनाऊं । निशदिन तेरे ही गुण गाऊं ।।
करहु मात यह अब मोपर दया । निर्मल होय सकल ममकाया ।।

मांगू मात यह बर दीजै । सकल मनोरथ पूर्ण कीजै ।।
जानूं नहिं कुछ नेम अचारा । छमहु मात अपराध हमारा ।।

बारह मास करै जो पूजा । ता सम जग में और न दूजा ।।
प्रथमहि गंगाजल मंगवावे । फिर सुंदर स्नान करावे ।।

चंदन अक्षत पुष्प चढ़ावे । धूप दीप नैवेद्य लगावे ।।
करे आचमन गंगा जल से । ध्यान करे हृदय निर्मल से ।।

पाठ करे फिर चालीसा की । अस्तुति करे मात तुलसी की ।।
यह विधि पूजा करे हमेशा । ताके तन नहिं रहै क्लेशा ।।

करै मास कार्तिक का साधन । सोवे नित पवित्र सिध हुई जाहीं ।।
है यह कथा महा सुखदाई । पढ़ै सुने सो भव तर जाई ।।

|| दोहा ||

यह श्री तुलसी चालीसा पाठ करे जो कोय ।
गोविन्द सो फल पावही जो मन इच्छा होय ।।

Tulsi Chalisa PDF Free Download Here

175 KB

निष्कर्ष

तुलसी चालीसा का पाठ करने से भगवान विष्णु बहुत ही प्रसन्न होते हैं और दुखों का नाश करते हैं । जो लोग तुलसीदास चालीसा का पाठ करते हैं भगवान उनके सारे काम बिना किसी बाधा के संपन्न करते हैं । तुलसी विवाह के दिन तुलसी चालीसा का पाठ करने से सड़क की हर मनोकामना पूरी होती है।

अन्य पीडीएफ़ डाउनलोड करें

Tulsi Chalisa Video

Introducing Saurabh Kumar, a distinguished university MBA postgraduate with more than five years of blogging experience. As a seasoned writer, SEO specialist, and digital storyteller, Saurabh skillfully combines his business knowledge with gripping storytelling. His blog entries provide strategic advice for improving online presence in addition to showcasing his in-depth knowledge on a wide range of subjects.

Leave a comment