Gita Press Gorakhpur Hanuman Chalisa Books in Hindi PDF Free Download 2023

Gita press Gorakhpur hanuman chalisa books in hindi pdf free download |गीता प्रेस गोरखपुर हनुमान चालीसा पुस्तकें हिंदी में पीडीएफ मुफ्त डाउनलोड|

हनुमान चालीसा गीता प्रेस गोरखपुर PDF श्री हनुमान जी की चालीसा पढ़ने के कई सारे फायदे हैं उसमें से एक यह फायदा है कि आपको और आपके मन को बहुत शांति मिलती है और आपको इसे रोज पढ़ना चाहिए आप रोज पढ़ सके|

आपको बार-बार internet पर इधर से उधर घूमना ना पड़े इसीलिए हम आपके लिए लाए हैं हनुमान चालीसा की कंप्लीट पीडीएफ यानी की पूरी पीडीएफ जो की हिंदी में अवेलेबल है और आप उसे बिल्कुल फ्री में download कर सकते हैं|[Hanuman Chalisa Gita Press Gorakhpur]

कहते हैं हनुमान चालीसा पढ़ने से श्री हनुमान जी बहुत ही प्रसन्न हो जाते हैं और भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं अगर आप अगर आप सुख और समृद्धि चाहते हैं तो हनुमान चालीसा पढ़ना स्टार्ट करें हनुमान चालीसा पढ़ने के बहुत फायदे हैं |

इससे आप बुरी शक्तियों से भी बचते हैं और इस लिंक पर क्लिक करके जाने हनुमान चालीसा पढ़ने के क्या-क्या फायदे हैं कैसे हनुमान चालीसा पढ़नी चाहिए कब पढ़नी चाहिए और PDF download करना चाहते हैं अगर आप तो download कर सकते हैं वह भी एकदम फ्री में|

Gita press Gorakhpur hanuman chalisa books in hindi pdf free download 1

हनुमान चालीसा गीता प्रेस गोरखपुर

श्री हनुमान चालीसा पीडीएफ में आपको श्री श्री श्री हनुमान जी और उनसे जुड़ी हुई काफी सारी बातों का पता चलता है|

श्री हनुमान चालीसा pdf अगर आपको download करना है तो आप हमारे इस ब्लॉग में जुड़े रहिए क्योंकि हम आगे आपको बताएंगे कि आप कैसे और कितनी इजली और बहुत आसानी से आप किस तरह से श्री हनुमान चालीसा का पीडीएफ डाउनलोड कर सकते हो

भगवान बजरंगबली बहुत ही दयालु किस्म के भगवान हैऔर अगर आप चाहते हो कि आपके सारे दुख और दर्द भगवान बजरंगबली दूर करें|

तो आपको हर रोज हर दिन एक समय निकालकर आपको उनका पाठ करना पड़ेगा भगवान बजरंगबली का पाठ करने से बहुत सारे कष्ट दूर होते हैं कासन का निवारण होता हैआप यकीन मानिए अगर आप भगवानबजरंगबली का जाप करते हैं तो आपको बहुत ही सुख और समृद्धि मिलेगी|[Hanuman Chalisa Gita Press Gorakhpur Hindi PDF]

Gita press Gorakhpur hanuman chalisa books in hindi pdf free download 2

हनुमान चालीसा (गीता-प्रेस) पुस्तक | Hanuman Chalisa Gita Press Gorakhpur Hindi PDF

|| हुनमान चालीसा दोहा ||

“श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि
बरनऊं रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि
बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरौं पवन कुमार
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं हरहु कलेस बिकार”

|| हनुमान चालीसा चौपाई ||

“जय हनुमान ज्ञान गुन सागरजय

कपीस तिहुं लोक उजागर

रामदूत अतुलित बल धामा

अंजनि पुत्र पवनसुत नामा

महाबीर बिक्रम बजरंगी

कुमति निवार सुमति के संगी

कंचन बरन बिराज सुबेसा

कानन कुंडल कुंचित केसा

हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै

कांधे मूंज जनेऊ साजै

संकर सुवन केसरीनंदन

तेज प्रताप महा जग बन्दन

विद्यावान गुनी अति चातुर

राम काज करिबे को आतुर

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया

राम लखन सीता मन बसिया

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा

बिकट रूप धरि लंक जरावा

भीम रूप धरि असुर संहारे

रामचंद्र के काज संवारे

लाय सजीवन लखन जियाये

श्रीरघुबीर हरषि उर लाये

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई

तुम मम प्रिय भरतहि सम भाईस

हस बदन तुम्हरो जस गावैं

अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा

नारद सारद सहित अहीसा

जम कुबेर दिगपाल जहां ते

कबि कोबिद कहि सके कहां ते

तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा

राम मिलाय राज पद दीन्हा

तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना

लंकेस्वर भए सब जग जाना

जुग सहस्र जोजन पर भानू

लील्यो ताहि मधुर फल जानू

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही

जलधि लांघि गये अचरज नाहीं

दुर्गम काज जगत के जेते

सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते

राम दुआरे तुम रखवारे

होत न आज्ञा बिनु पैसारे

सब सुख लहै तुम्हारी सरना

तुम रक्षक काहू को डर ना

आपन तेज सम्हारो आपै

तीनों लोक हांक तें कांपै

भूत पिसाच निकट नहिं आवै

महाबीर जब नाम सुनावै

नासै रोग हरै सब पीरा

जपत निरंतर हनुमत बीरा

संकट तें हनुमान छुड़ावै

मन क्रम बचन ध्यान जो लावै

सब पर राम तपस्वी राजा

तिन के काज सकल तुम साजा

और मनोरथ जो कोई लाव

सोइ अमित जीवन फल पावै

चारों जुग परताप तुम्हारा है

परसिद्ध जगत उजियारा

साधु संत के तुम रखवारे

असुर निकंदन राम दुलारे

श्री हनुमान चालीसा चौपाई

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता

अस बर दीन जानकी माता

राम रसायन तुम्हरे पासा

सदा रहो रघुपति के दासा

तुम्हरे भजन राम को पावै

जनम-जनम के दुख बिसरावै

अन्तकाल रघुबर पुर जाई

जहां जन्म हरि भक्त कहाई

और देवता चित्त न धरई

हनुमत सेइ सर्ब सुख करई

संकट कटै मिटै सब पीरा

जो सुमिरै हनुमत बलबीरा

जै जै जै हनुमान गोसाईं

कृपा करहु गुरुदेव की नाईं

जो सत बार पाठ कर कोई

छूटहि बंदि महा सुख होई

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा

होय सिद्धि साखी गौरीसा

तुलसीदास सदा हरि चेरा

कीजै नाथ हृदय मंह डेरा

कीजै नाथ हृदय मंह डेरा”

|| हनुमान चालीसा दोहा ||

पवन तनय संकट हरन मंगल मूरति रूप

राम लखन सीता सहित हृदय बसहु सुर भूप

हनुमान चालीसा गीता प्रेस गोरखपुर | Hanuman Chalisa Gita Press Gorakhpur

श्री हनुमान चालीसा का पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए आपको ब्लॉक के सबसे नीचे जाना पड़ेगा ब्लॉक के सबसे नीचे जाने के बाद आपको एक बटन दिखाई दे देगा|

जिसमें लिखा होगा कि हनुमान चालीसा डाउनलोड करें आपको उसे बटन पर क्लिक करना है और क्लिक करने के बाद आपको 30 सेकंड यानी की 30 सेकेंड्स वेट करना है|

30 सेकेंड वेट करने के बाद आपको दोबारा से उसे पर क्लिक करना पड़ेगा या फिर वह ऑटोमेटेकली यानी कि अपने आप डाउनलोडिंग स्टार्ट कर देगा अगर आपको कोई भी दिक्कत आ रही है डाउनलोड करने में तो आप कमेंट के माध्यम से हमें बता सकते हैं

और मेरी आपसे और आप सभी से निवेश और एक छोटी सी रिक्वेस्ट रहेगी कि आप लोग जितने लोग भी श्री हनुमान चालीसा का पीडीएफ डाउनलोड करना चाहते हो उसको डाउनलोड तो कर लो लेकिन आप उसको रोज-रोज पढ़ना क्योंकि हनुमान चालीसा का पाठ रोज करने से बहुत सारे कासन का निवारण होता है|

श्री हनुमान चालीसा पढ़ने सेआपको सुख और समृद्धि मिलती हैहनुमान जी श्री राम जी के बहुत बड़े भक्त थे और श्री राम जी का नाम हमेशा से खुशी और समृद्धि से जुड़ा हुआ है अगर आप भी चाहते हो कि आपकी जिंदगी में खुशी और समृद्धि और बहुत सारा पैसा आए तो आप हनुमान जी का जब रोज किया करो तो इसी बात पर जल्दी से आप सब बोलो जय श्री राम|

Gita press Gorakhpur hanuman chalisa books in hindi pdf free download 3

हनुमान चालीसा पाठ कैसें पढे

  1. सही समय चुनें: हनुमान चालीसा का पाठ सुबह का समय करना उपयुक्त है, खासकर मंगलवार को। आप नहाने के बाद और शुद्ध स्थिति में होकर इसे कर सकते हैं।
  2. पाठ का स्थान: बैठें हनुमान जी की चित्र या मूर्ति के सामने। सुनिश्चित करें कि स्थान साफ है और किसी प्रकार की व्य distractions मुक्त हैं।
  3. प्रार्थना से शुरुआत करेंr: पाठ शुरू करने से पहले हनुमान जी से मार्गदर्शन और आशीर्वाद के लिए प्रार्थना करें। आप एक दीप (लैम्प) भी जला सकते हैं, भक्ति का प्रतीक के रूप में।
  4. सस्वर पाठ: हनुमान चालीसा को भक्ति और ध्यान से पढ़ें। इसे एक से तीन बार पढ़ सकते हैं, यह शुभ माना जाता है।
  5. जल अर्पित करना: विधी पूर्ण होने पर मूर्ति या चित्र के सामने पानी भरा बर्तन रखें। पाठ पूरा होने के बाद, इस पानी को अपने ऊपर और मूर्ति या चित्र पर छिड़कें। इसे आशीर्वाद के रूप में समझें।
  6. प्रसाद ले रहे हैं: छिड़के गए पानी को प्रसाद के रूप में समझें। अपने हाथ में कुछ बूँदें लें और इसे देवी आशीर्वाद के रूप में उपभोग करें।
  7. समापन प्रार्थना: आचार्य हनुमान को उनके आशीर्वाद के लिए धन्यवाद देकर और कृतज्ञता व्यक्त करके रिटुअल को समाप्त करें। सुरक्षा और मार्गदर्शन के लिए एक अंतिम प्रार्थना करें।

ध्यान रखें कि किसी भी अनुष्ठान का कुंजीबद्धता, ईमानदारी, और एकाग्रता में है। हनुमान चालीसा के शब्दों को महसूस करें और इसे पढ़ते समय अपने हृदय को भक्ति से भरें। इस अभ्यास को भगवान हनुमान से पॉजिटिव ऊर्जा, सुरक्षा, और आशीर्वाद लाने के रूप में माना जाता है।

Gita press Gorakhpur hanuman chalisa books in hindi pdf free download 4

हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे

  1. आशीर्वाद और सुरक्षा: हनुमान चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति को हनुमान जी के आशीर्वाद का लाभ होता है, जिससे उसे सुरक्षित रहने की अनुभूति होती है।
  2. भक्ति और श्रद्धा की बढ़ाई: हनुमान चालीसा पढ़ने से व्यक्ति की भक्ति और श्रद्धा में वृद्धि होती है, जो आध्यात्मिक उन्नति की ओर एक पथ प्रदर्शित करती है।
  3. मनोबल में सुधार: हनुमान जी की कृपा से व्यक्ति का मनोबल बढ़ता है, जिससे उसे जीवन के चुनौतीपूर्ण पहलुओं का सामना करने की क्षमता मिलती है।
  4. रोगनिवारण में सहारा: हनुमान चालीसा का पाठ करने से शारीरिक और मानसिक रूप से स्वास्थ्य में सुधार होता है, और रोगनिवारण में सहारा मिलता है।
  5. भूत-प्रेत रक्षा: हनुमान जी को भूत-प्रेतों और नकारात्मक शक्तियों से रक्षा करने का कारण माना जाता है, इसलिए हनुमान चालीसा पढ़ने से व्यक्ति को सुरक्षित रखने में मदद होती है।
  6. कष्ट निवारण: हनुमान चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति के जीवन में आने वाले कष्टों का निवारण होता है, और उसे सुख-शांति मिलती है।
  7. सकारात्मक ऊर्जा: हनुमान चालीसा का पाठ करने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है जो व्यक्ति को सकारात्मक दृष्टिकोण और उत्साह में मदद करती है।
  8. धर्मिक साधना: हनुमान चालीसा पढ़ना एक धार्मिक साधना है जो व्यक्ति को आध्यात्मिक विकास में सहारा प्रदान करती है और उसे धार्मिक लक्ष्यों की प्राप्ति में मदद करती है।

आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप हनुमान चालीसा गीता प्रेस गोरखपुर PDF / Hanuman Chalisa Gita Press Gorakhpur PDF in Hindi मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं।

Hanuman Chalisa Video

Gita press Gorakhpur hanuman chalisa books in hindi pdf free download.

Web-Stories

Click here to watch a web story

Introducing Saurabh Kumar, a distinguished university MBA postgraduate with more than five years of blogging experience. As a seasoned writer, SEO specialist, and digital storyteller, Saurabh skillfully combines his business knowledge with gripping storytelling. His blog entries provide strategic advice for improving online presence in addition to showcasing his in-depth knowledge on a wide range of subjects.

Leave a comment

10 Best Places To Visit In Winter In India 2024 Best Muscle Cars to Buy in 2024 Top 10 Unbelievable Facts About the Mustang GT 8 Reasons Why You Should Own Mustang GT Benefits of Health Insurance for Students